Faaslon mein baaghi 3 lyrics

फासलों में Faaslon mein song lyrics in hindi | Faaslon mein Baaghi 3 lyrics

Faaslo mein Baaghi 3 Lyrics In Hindi & English –Sachet Tandon 2020 New Latest Bollywood Songs Lyrics, Faaslo mein Lyrics Baaghi 3 is Latest Boolywood song written by Sachet Tondon , Parampara and music of new this song is given by T-Series .
फासलों में song is also available on Songkelyrics , फासलों में Baaghi 3 song lyrics in hindi is available music by T-Series .

SingerSachet Tandon
SingerSachet-Parampara
MusicSachet-Parampara
Song WriterShabbir Ahmed

In English

In Hindi

Faaslon mein bat sake na
Hum juda hoke
Main bichhad ke bhi raha
Pura tera hoke

Faaslon mein bat sake na
Hum juda hoke
Main bichhad ke bhi raha
Pura tera hoke

Kyun mere kadam ko aag ka dariya roke
Kyun humko milne se ye dooriyan roke
Ab ishq kya tumse kare, humsa koi hoke
Saans bhi na le sake tumse alag hoke
Main rahun kadmo ka tere humsafar hoke
Dard saare mitt gaye humdard jab se tu mila

Kyun sab humse jal rahe hai
Kyun hum unko khal rahe hai
Haan ye kaisa junoon sa hai
Hum ye kis raah chal rahe hai
Haan meri is baat ko tum jehan mein rakhna

Pul hoon dariya ka main
Tu mujhpe hi bas chalna
Har janam mein ishq banke
Hi mujhe milna

Teri saanso se hai meri
Dhadkano ke kaafile

Faaslon mein bat sake na
Hum juda hoke
Main bichhad ke bhi raha
Pura tera hoke

Main rahun teri jameen ka aashman hoke
Main bichhad ke bhi raha pura tera hoke
Aur main nahi hargiz rahunga daastan hoke


फासलों में बट सके ना
हम जुदा हो के
मैं बिछड़ के भी रहा
पूरा तेरा हो के

फासलों में बट सके ना
हम जुदा हो के
मैं बिछड़ के भी रहा
पूरा तेरा हो के

क्यूँ मेरे कदम को आग का दरिया रोके
क्यूँ हमको मिलने से ये दूरियाँ रोके
अब इश्क़ क्या तुमसे करे, हम सा कोई हो के
साँस भी ना ले सके तुमसे अलग हो के
मैं रहूं कदमो का तेरे हमसफ़र हो के
दर्द सारे मिट गये हमदर्द जब से तू मिला

क्यूँ सब हमसे जल रहे है
क्यूँ हम उनको खल रहे है
हा ये कैसा जुनून सा है
हम ये किस राह चल रहे है
हा मेरी इस बात को तुम जेहन में रखना

पुल हूँ दरिया का मैं
तू मुझपे ही बस चलना
हर जनम में इश्क़ बनके
ही मुझे मिलना

तेरी सांसो से है मेरी
धड़कनो के काफिले

फासलों में बट सके ना
हम जुदा हो के
मैं बिछड़ के भी रहा
पूरा तेरा हो के

मैं रहूं तेरी ज़मीन का आसमान हो के
मैं बिछड़ के भी रहा पूरा तेरा हो के
और मैं नही हरगिज़ रहूँगा दास्तान हो के



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *